One Station One Product:हाथरस में नहीं आया एक भी आवेदन, प्रचार-प्रसार करना भूल गया रेलवे – Not A Single Application For One Station One Product In Hathras

रेलवे स्टेशन पर खड़ी ट्रेन
– फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी।

विस्तार

केंद्र सरकार द्वारा स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए एक स्टेशन-एक उत्पाद के तहत हाथरस सिटी रेलवे स्टेशन पर दुकान लगाने की मंजूरी दी गई है। खास बात यह है कि इस योजना से शहर के उद्यमी ही अनजान हैं। कई माह गुजरने के बाद भी आज तक एक भी दुकान लगाने के लिए आवेदन नहीं आया है।

हाथरस में हींग, रेडीमेड गारमेंट्स, रंग-गुलाल, अचार-मुरब्बा, हैंडलूम व पावरलूम सहित कई उद्योग हैं। यहां से दूर-दूर तक माल की आपूर्ति की जाती है। केंद्र सरकार द्वारा उत्पादों को दूर-दूर तक पहुंचाने के लिए एक स्टेशन-एक उत्पाद की योजना तैयार की गई। इसके लिए हाथरस सिटी स्टेशन पर फ्लैक्स भी लगाया गया। फ्लैक्स लगने के कई माह बाद एक भी आवेदन दुकान के लिए नहीं आया है।

एक स्टेशन-एक उत्पाद योजना के तहत हस्तशिल्प एवं हथकरघा, सामग्री एवं पारंपरिक परिधान, स्थानीय एवं स्वयं सहायता समूह द्वारा निर्मित वस्तु, पंजीकृत सूक्ष्म, जनजातिय कारीगर, बुनकर, शिल्पकार द्वारा निर्मित सामग्री, स्थानीय कृषि उत्पादन आदि को शामिल किया गया था। अभी इनमें से किसी की दुकान हाथरस सिटी स्टेशन पर नहीं लगी है। इसकी मुख्य वजह यह है कि इसका व्यापक प्रचार-प्रसार नहीं कराया जाना है। इसी वजह से उद्यमियों को इसकी जानकारी नहीं है।

एक स्टेशन-एक उत्पाद योजना के बारे में हमें जानकारी नहीं है। इसके तहत हैंडलूम से संबंधित सामान की स्टेशन परिसर में बिक्री के लिए आवेदन नहीं किया जा सका। इस संबंध में रेलवे को प्रचार-प्रसार करना चाहिए। ताकि दुकान लग सके। -बुद्धसेन माहौर, हैंडलूम कारोबारी

हाथरस की हींग एक जिला एक उत्पाद योजना में शामिल हैं। रेलवे द्वारा यदि एक स्टेशन5एक उत्पाद योजना का प्रचार किया जाता तो हींग की दुकान भी लग सकती थी। रेलवे को योजनाओं के प्रचार प्रसार पर ध्यान देना चाहिए। -अनिल शर्मा, हींग उद्यमी

एक स्टेशन-एक उत्पाद योजना के तहत दुकान के लिए आवेदन मांगे गए। इस बारे में हमें जानकारी नहीं है। यदि इस बारे में सही तरीके से जानकारी दी जाती तो निश्चित रूप से जिले के उत्पाद से संबधित दुकान लग गई होती। -नागेंद्र पाठक, रेडीमेड गारमेंट कारोबारी

एक स्टेशन-एक उत्पाद योजना के तहत स्टॉल लगाने के लिए प्रचार-प्रसार किया गया। कोई आवेदन नहीं आया। इस कारण स्टॉल नहीं लग सके हैं। यदि कोई व्यक्ति काम करना चाहता है वह स्टेशन पर संपर्क कर लें। -राजेंद्र सिंह, पीआरओ डीआरएम इज्जतनगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *