Couple Accused Of Embezzlement Of 30 Crores In Bihar Arrested By Train – Gorakhpur: बिहार में 30 करोड़ के गबन का आरोपी दंपती ट्रेन से गिरफ्तार, Rpf ने बिहार पुलिस को किया सुपुर्द

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : social media

ख़बर सुनें

बिहार में 30 करोड़ रुपये का गबन कर एक साल से फरार दंपती को बृहस्पतिवार को चलती ट्रेन से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद आरोपी दंपती को छपरा, बिहार पुलिस को सौंप दिया गया। आरपीएफ ने दोनों को नई दिल्ली से न्यू जलपाईगुड़ी जाने वाली ट्रेन से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान बिहार के छपरा जिले के भगवान बाजार दौलतपुर निवासी धीरज अग्रवाल व उसकी पत्नी प्रिया अग्रवाल के रूप में हुई।

गोरखपुर के आरपीएफ (रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स) इंस्पेक्टर राजेश कुमार सिन्हा ने बताया कि इन दोनों आरोपियों को चलती ट्रेन से गिरफ्तार किया गया है। इनके खिलाफ बिहार के छपरा में 30 करोड़ रुपये का गबन का केस दर्ज है।

उन्होंने बताया कि लोगों का काफी विश्वास होने की वजह से डाकघर के एजेंट के रूप में काम करने वाले धीरज अग्रवाल और उसकी पत्नी सैकड़ों लोगों के रुपये डाकघर में जमा करते रहे। पहले तो वे सही काम करते रहे, लेकिन बाद में लोगों का रुपये जमा करने के नाम पर फर्जी रसीद देने लगे। इस तरह इन दोनों ने रिटायर्ड प्रोफेसर के 70 लाख रुपये सहित अन्य लोगों से जालसाजी की। इसके बाद ये बिहार के छपरा से फरार हो गए।

दिल्ली में छिपे फिर बदलने वाले थे ठिकाना
आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वे दिल्ली में रह रहे थे। इसके बाद वे अब नए ठिकाने की तलाश में जाने के लिए निकले थे। आरपीएफ ने मुखबिर की सूचना के बाद आरोपियों को 12524, नई दिल्ली से न्यू जलपाईगुड़ी जाने वाली ट्रेन में गिरफ्तार किया। दंपती के साथ उनके दो बच्चे भी मौजूद थे।

विस्तार

बिहार में 30 करोड़ रुपये का गबन कर एक साल से फरार दंपती को बृहस्पतिवार को चलती ट्रेन से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद आरोपी दंपती को छपरा, बिहार पुलिस को सौंप दिया गया। आरपीएफ ने दोनों को नई दिल्ली से न्यू जलपाईगुड़ी जाने वाली ट्रेन से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान बिहार के छपरा जिले के भगवान बाजार दौलतपुर निवासी धीरज अग्रवाल व उसकी पत्नी प्रिया अग्रवाल के रूप में हुई।

गोरखपुर के आरपीएफ (रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स) इंस्पेक्टर राजेश कुमार सिन्हा ने बताया कि इन दोनों आरोपियों को चलती ट्रेन से गिरफ्तार किया गया है। इनके खिलाफ बिहार के छपरा में 30 करोड़ रुपये का गबन का केस दर्ज है।

उन्होंने बताया कि लोगों का काफी विश्वास होने की वजह से डाकघर के एजेंट के रूप में काम करने वाले धीरज अग्रवाल और उसकी पत्नी सैकड़ों लोगों के रुपये डाकघर में जमा करते रहे। पहले तो वे सही काम करते रहे, लेकिन बाद में लोगों का रुपये जमा करने के नाम पर फर्जी रसीद देने लगे। इस तरह इन दोनों ने रिटायर्ड प्रोफेसर के 70 लाख रुपये सहित अन्य लोगों से जालसाजी की। इसके बाद ये बिहार के छपरा से फरार हो गए।

दिल्ली में छिपे फिर बदलने वाले थे ठिकाना

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वे दिल्ली में रह रहे थे। इसके बाद वे अब नए ठिकाने की तलाश में जाने के लिए निकले थे। आरपीएफ ने मुखबिर की सूचना के बाद आरोपियों को 12524, नई दिल्ली से न्यू जलपाईगुड़ी जाने वाली ट्रेन में गिरफ्तार किया। दंपती के साथ उनके दो बच्चे भी मौजूद थे।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *