Chhattisgarh Ravana effigy did not burn properly on Dussehra municipality suspended 1 and issued notice to 4 officers

Image Source : FILE PHOTO
Ravana effigy

Highlights

  • रावण के पुतले को पहनाए गए थे फटे कपड़े
  • लिपिक को किया गया तत्काल प्रभाव से निलंबित
  • निर्माण राशि का भुगतान भी रोका जाएगा

Chhattisgarh: बुधवार को देशभर में दशहरे की धूम रही। जगह-जगह रावण के पुतले जलाये गए। मेले लगे। मेलों में भीड़ जुटी। इस बार दशहरा के दिन कई जगह अच्छी-खासी बरसात हुई, जिसमें रावण के पुतले भीग भी गए। जिन्हें जलने के लिए खूब मसक्कत करनी पड़ी। सोशल मीडिया पर जोक भी चला कि इस बार रावण जलकर नहीं डुबाकर मारा जायेगा। बारिश में भीगने की वजह से कई पुतले अधजले भी रह गए। लेकिन ऐसा ही एक अधजला पुतला छत्तीसगढ़ में चार सरकारी कर्मचारियों पर आफत बन गया। 

चार अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी

छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में बुधवार को दशहरा के जश्न के दौरान रावण के पुतले का सिर नहीं जल पाने के कारण नगर पालिक निगम के लिपिक को निलंबित कर दिया गया है और चार अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि दशहरा के जश्न के दौरान रावण का पुतला तैयार करने में बरती गई लापरवाही के कारण धमतरी नगर पालिक निगम ने सहायक ग्रेड तीन राजेंद्र यादव को निलंबित कर दिया है। 

लिपिक को किया गया तत्काल प्रभाव से निलंबित 

धमतरी नगर पालिक निगम के आयुक्त द्वारा जारी निलंबन आदेश में कहा गया है, ‘‘राजेंद्र यादव, सहायक ग्रेड तीन नगर पालिक निगम, धमतरी द्वारा दशहरा उत्सव के लिए रावण का पुतला तैयार करवाने में घोर लापरवाही बरती गई है, जिससे निगम की छवि धूमिल हुई है। उपरोक्त कारणों के दृष्टिगत उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है। निलंबन अवधि में वह नियमानुसार निर्वाह भत्ता के पात्र होंगे।’’ अधिकारियों ने बताया कि इसके साथ ही निगम के सहायक अभियंता विजय मेहरा और उप अभियंता लोमस देवांगन, कमलेश ठाकुर और कामता नागेंद्र को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

रावण के पुतले को पहनाए गए थे फटे कपड़े  

उन्होंने बताया कि धमतरी शहर में हर साल धूमधाम से दशहरा का पर्व मनाया जाता है। मुख्य समारोह के लिए नगर पालिका द्वारा रावण का पुतला तैयार किया जाता है। बुधवार को जब समारोह के लिए रावण का पुतला मैदान में लगाया गया, तब उसकी कद-काठी और फटे कपड़े को देखकर लोग मजाक बनाने लगे। यही नहीं, सोशल मीडिया पर पुतले की कई तस्वीरें और वीडियो भी वायरल किए गए। 

संबंधित राशि का भुगतान भी रोका जाएगा

अधिकारियों के मुताबिक, जब शाम को रावण के पुतले को जलाया गया, तब उसके धड़ का हिस्सा चार मिनट में ही जल गया, लेकिन दसों सिर बचे रह गए। इससे लोगों के सामने नगर पालिका की छवि धूमिल हुई। धमतरी नगर निगम के महापौर विजय देवांगन ने कहा, ‘‘रावण के पुतले के निर्माण की जिम्मेदारी जिन लोगों को सौंपी गई थी, उनके खिलाफ कार्रवाई की गई है। अब पुतले के निर्माण से संबंधित राशि का भुगतान भी रोका जाएगा।’’ 

Latest India News

function loadFacebookScript(){
!function (f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq)
return;
n = f.fbq = function () {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments);
};
if (!f._fbq)
f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s);
}(window, document, ‘script’, ‘//connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘1684841475119151’);
fbq(‘track’, “PageView”);
}

window.addEventListener(‘load’, (event) => {
setTimeout(function(){
loadFacebookScript();
}, 7000);
});

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *