andaman and nicobar 21 islands named after param vir chakra awardees by pm modi । अंडमान निकोबार के 21 द्वीपों को मिला परमवीर चक्र विजेताओं का नाम

आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती है। आज संसद से अंडमान तक नेताजी के पराक्रम का सम्मान हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 परमवीर चक्र विजेताओं के नाम पर अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के 21 द्वीपों का नामकरण किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने अंडमान में ही पहला झंडा फहराया था। ये 21 द्वीप आने वाली पीढ़ी के लिए प्रेरणा का स्रोत बनेंगे। पीएम ने कहा कि हमारे द्वीपों के नामों में गुलामी की छाप थी। स्वराज और शहीद नाम खुद नेताजी ने ही दिए थे। पीएम मोदी ने कहा कि जिस द्वीप पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस रहे थे वहां पर उनके जीवन और योगदानों को समर्पित राष्ट्रीय स्मारक का अनावरण किया गया है। 

Image Source : ANI

21 में 5 द्वीप दक्षिण अंडमान में हैं

“अंडमान की धरती पर पहली बार तिरंगा फहराया”


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “अंडमान की ये धरती वो धरती है जहां पहली बार तिरंगा फहराया गया था। जहां पहली बार स्वतंत्र भारत की सरकार बनी। आज नेताजी सुभाष बोस की जयंती है। देश इस दिन को पराक्रम दिवस के रूप में मनाता है। वीर सावरकर और देश के लिए लड़ने वाले कई अन्य नायकों को अंडमान की इस भूमि में कैद कर दिया गया था। 4-5 साल पहले जब मैं पोर्ट ब्लेयर गया था, तब मैंने वहां के 3 मुख्य द्वीपों को भारतीय नाम समर्पित किए थे।” पीएम ने कहा कि आज के इस दिन को आजादी के अमृत काल के एक महतपूर्ण अध्याय के रूप में आने वाली पीढ़ियां याद करेंगी। हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए ये द्वीप एक चिरंतर प्रेरणा का स्थल बनेंगे। 

16 द्वीप उत्तर और मध्य अंडमान में है

Image Source : ANI

16 द्वीप उत्तर और मध्य अंडमान में है

“द्वीपों के नामकरण में कई संदेश निहित”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सेल्यूलर जेल की कोठरियों से आज भी अप्रतिम पीड़ा के साथ-साथ उस अभूतपूर्व जज़्बे के स्वर सुनाई पड़ते हैं। जिन 21 द्वीपों को आज नए नाम मिल गए हैं, उनके नामकरण में कई संदेश निहित हैं। संदेश एक भारत, श्रेष्ठ भारत का है। यह संदेश हमारे सशस्त्र बलों की बहादुरी का है। प्रधानमंत्री ने कहा कि दशकों से नेताजी के जीवन से जुड़ी फाइलों को सार्वजानिक करने की मांग हो रही थी, यह काम भी देश ने पूरी श्रद्धा के साथ आगे बढ़ाया। आज हमारी लोकतांत्रिक संस्थाओं के सामने ‘कर्तव्य पथ’ पर नेताजी की भव्य प्रतिमा हमें हमारे कर्तव्यों की याद दिला रही है।

इन 21 परमवीरों के नाम पर द्वीप-














मेजर सोमनाथ शर्मा सूबेदार करम सिंह
सेकंड लेफ्टि. राम राणे नायक जदुनाथ सिंह
मेजर पीरू सिंह कैप्टन जी.एस. सलारिया
लेफ्टि. कर्नल धन थापा सूबेदार जोगिंदर सिंह
मेजर शैतान सिंह अब्दुल हमीद
लेफ्टि. कर्नल ए बी तारापोर लांस नायक अल्बर्ट एक्का
मेजर होशियार सिंह सेकंड लेफ्टि. अरुण खेत्रपाल
फ्लाइंग ऑफिसर निर्मलजीत सेखों मेजर रामास्वामी परमेश्वरन
नायब सूबेदार बाना सिंह कप्तान विक्रम बत्रा
लेफ्टिनेंट मनोज कुमार पांडे सूबेदार मेजर संजय कुमार
सूबेदार मेजर योगेंद्र यादव

ये भी पढ़ें-

कारगिल की वीरगाथा: मशीनगन छोड़कर भागने पर मजबूर हो गए थे पाकिस्तानी, परमवीर चक्र विजेता संजय कुमार की शौर्य गाथा

‘परमवीर चक्र सीरियल’ से लेकर ‘परमवीर चक्र’ से सम्मानित होने तक, कैप्टन विक्रम बत्रा के जुड़वा भाई से जानिए पूरी शौर्यगाथा

Latest India News



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *