नारियल रेशे यानी कॉयर और उससे बने उत्‍पादों के निर्यात में भारत ने अब तक की सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की

भारत से नारियल रेशे और उससे बने उत्‍पादों का वर्ष 2019-20 में 2757.90 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड निर्यात हुआ जबकि वर्ष 2018-19 में यह निर्यात 2728.04 करोड़ रुपये का था यानी कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार लगभग 30 करोड़ रुपये अधिक का निर्यात हुआ है। वर्ष 2019-20 की अवधि में देश से नारियल रेशे और उससे बने उत्‍पादों का 9,88,996 मीट्रिक टन निर्यात किया गया जबकि पिछले वर्ष यह निर्यात 9,64,046 मीट्रिक टन था। नारियल रेशे से बने उत्‍पाद जैसे कॉयर पिथ, टफ्ड मैट,  जियो-टेक्सटाइल्स,  रग्स और कालीन तथा  रस्सी और पावर-लूम मैट के निर्यात में मात्रा और मूल्य दोनों के संदर्भ में वृद्धि दर्ज की गई। हैंड-लूम मैट, कॉयर यार्न, रबराइज्ड कॉयर और पावर-लूम मैटिंग जैसे उत्पादों में मात्रा के संदर्भ में गिरावट और मूल्य के संदर्भ में वृद्धि देखी गई।

 

  • देश से निर्यात किए गए कुल नारियल रेशा उत्‍पादों में से कॉयर पिथ का 1349.63 करोड़ रुपये का निर्यात हुआ जो कुल कॉयर निर्यात की कमाई का 49 प्रतिशत रहा।.
  • कुल कॉयर निर्यात में से कॉयर फाइबर के निर्यात की हिस्‍सेादारी 18 प्रतिशत के साथ 498.43 करोड़ रुपये की रही। .
  • कॉयर के मूल्‍य संवर्धित उत्‍पादों का निर्यात कुल कॉयर निर्यात का 33 प्रतिशत रहा। .
  • मूल्‍य संवर्धित उत्‍पादों में से 20 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ टफड मैट सबसे शीर्ष पर रहे।
  • कॉयर और कॉयर उत्पादों का निर्यात इस अवधि के दौरान कभी भी कम नहीं रहा जिससे  कॉयर उद्यमी के लिए व्यवसाय की चिंता करने की कोई आवश्‍यकता नहीं है। .
  • घरेलू बाजार में भी कॉयर और उससे बने उत्‍पादों की बिक्री में तेजी बनी रही।
  • कॉयर और उसके उत्‍पादों का निर्यात समुद्री मार्ग से भारतीय बंदरगाहों के जरिए किया जाता है। इनमें से 99 प्रतिशत निर्यात तूतीकोरीन,चेन्‍नई और कोच्‍चि के बंदरगाह से होता है। अन्‍य बंदरगाह जहां से इन वस्‍तुओं का निर्यात किया जाता है उसमें विशाखापत्‍तनम, मुबंई और कोलकाता आदि शामिल हैं। इन उत्‍पादों का छोटी मात्रा में निर्यात कन्‍नूर, कोयम्बटूर और रक्‍सौल के जरिए सड़क मार्ग से भी होता है।

निर्यात का ब्‍यौरा इस प्रकार है ;

 

बंदरगाहों से निर्यात  (2019-20)
क्र.सं. बंदरगाह/निर्यात का स्थान मात्रा

(मीट्रिक टन)

मूल्य

(रुपये लाख)

1 तूतीकोरिन 519144 122910.39
2 कोचीन 217930 107023.69
3 चेन्नई 238970 43159.93
4 विशाखापट्टनम 11578 1871.26
5 मुम्बई 1145 596.15
6 कोलकाता 113 131.89
7 बेंगलुरु 41 58.19
8 अन्य (सड़क द्वारा) 75 38.63
कुल 988996 275790.13
PIB releases.

6 thoughts on “नारियल रेशे यानी कॉयर और उससे बने उत्‍पादों के निर्यात में भारत ने अब तक की सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की

  • 02/10/2021 at 1:33 PM
    Permalink

    I have been reading out many of your posts and i must say pretty nice stuff. I will definitely bookmark your website. Odetta Joshua Watkin

    Reply
  • 02/10/2021 at 5:04 PM
    Permalink

    Amazing! Its really remarkable article, I have got much clear idea on the topic of from this paragraph. Tracie Sheppard Lurlene

    Reply
  • 02/10/2021 at 6:56 PM
    Permalink

    Thanks again for the blog post. Much thanks again. Great. Leilah Nat Denis

    Reply
  • 02/10/2021 at 8:11 PM
    Permalink

    After looking at a number of the articles on your web page, I really like your technique of writing a blog. I saved it to my bookmark webpage list and will be checking back soon. Please check out my website as well and let me know what you think. Debee Goddard Maccarone

    Reply
  • 02/10/2021 at 11:03 PM
    Permalink

    Very good article. I am going through many of these issues as well.. Eadith Jim Mainis

    Reply
  • 02/11/2021 at 2:21 AM
    Permalink

    Sed facilisis nibh eu lobortis consequat. Mauris et velit molestie, auctor eros suscipit, tempor vela neque, hendrerit vel pulvinar ut, ornare nec sapien. Suspendisse bibendum id molestie felis eget. Lorem ipsum dolor sit amet, est te posidonium omittantur, eu eum noster alienum graecis vix. Janaya Muffin Coussoule

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *