राजीव गांधी राष्ट्रीय उड्डयन विश्वविद्यालय ने नए सत्र के लिए नामांकन प्रक्रिया आरंभ की

भारत के एकमात्र उड्डयन विश्वविद्यालय, राजीव गांधी राष्ट्रीय उड्डयन विश्वविद्यालय (आरजीएनएयू), अमेठी, उत्तर प्रदेश ने 2020 के नए सत्र में पाठ्यक्रमों के लिए नामांकन प्रक्रिया आरंभ कर देने की घोषणा की है। इन पाठ्यक्रमों में उड्डयन सेवाओं तथा एयर कार्गो में बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (बीएमएस) तथा हवाई अड्डा प्रचालनों में स्नातकोत्तर डिप्लोमा शामिल है। बीएमएस तथा स्नातकोत्तर डिप्लोमा कोर्स के लिए आनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 29 जुलाई 2020 है। इच्छुक छात्रों को प्रोग्राम में सूचीबद्ध होने के लिए विश्वविद्यालय  की  वेबसाइट  www.rgnau.ac.in पर मेल करना होगा।

राजीव गांधी राष्ट्रीय उड्डयन विश्वविद्यालय के कार्यवाहक कुलपति श्री अम्बेर दूबे ने कहा, ‘ पूरे देश भर में हवाई अड्डों की संख्या बढ़ रही है और प्रत्येक नया हवाई अड्डा प्रचुर मात्रा में रोजगार अवसरों का सृजन करता है। उड्डयन क्षेत्र के विकास के साथ, हम प्रशिक्षित आकांक्षी छात्रों के लिए एक सुनहरे अवसर की उम्मीद करते हैं। आरजीएनएयू द्वारा प्रस्तुत किए जा रहे रोजगार उन्मुखी पाठ्यक्रम छात्रों को उभरते अवसरों के लिए मुस्तैद रहने के लिए तैयार करेंगे।

पाठ्यक्रमों के विवरण नीचे दिए गए हैं:

  • उड्डयन सेवाओं तथा एयर कार्गो में बैचलर आफ मैनेजमेंट स्टडीज (बीएमएस) डिग्री प्रोग्राम से सन्निहित तीन वर्ष की प्रशिक्षुता है जो संभार तंत्र कौशल परिषद के सहयोग से प्रस्तुत की जा रही है। तीन वर्ष के समस्त पाठ्यक्रम में एयरलाइंस, हवाई अड्डों, कार्गो, एमआरओ, एटीसी तथा ग्राउंड सर्विसेज कंपनियों के साथ व्यावहारिक प्रशिक्षुता शामिल है।
  • पात्रता: एक विषय के रूप में गणित या बिजनेस स्टैटिक्स या बिजनेस मैथेमैटिक्स के साथ 10 + 2, में न्यूनतम 50 प्रतिशत समुच्चयी अंकों के साथ कोई उम्मीदवार इस पाठ्यक्रम में नामांकन के लिए आवेदन कर सकता है। अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के छात्रों के लिए 5 प्रतिशत अंक की छूट की अनुमति दी जाती है। आकांक्षी उम्मीदवार की उम्र 31 अगस्त 2020 को 21 वर्ष की आयु से कम होनी चाहिए और उसे 31 अक्टूबर 2020 तक अंतिम अंकतालिका प्रस्तुत करने में सक्षम होना चाहिए।
  • हवाई अड्डा प्रचालनों में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पीजीडीएओ) जीएमआर एवियेशन अकेडमी के सहयोग से संचालित किया जाने वाला 18 महीने का एक पाठ्यक्रम है। इस पाठ्यक्रम में विश्वविद्यालय परिसर में 12 महीनों का क्लासरूम प्रशिक्षण एवं जीएमआर हवाई अड्डों पर 06 महीने का इंटर्नशिप प्रोग्राम शामिल है।
  • पात्रता: किसी मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से समुच्चय में न्यूनतम 55 प्रतिशत अंकों के साथ कोई उम्मीदवार इस पाठ्यक्रम के लिए आवेदन कर सकता है। अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के छात्रों के लिए 5 प्रतिशत अंक की छूट की अनुमति दी जाती है। नामांकन का पात्र होने के लिए उम्मीदवार की उम्र 31 अगस्त 2020 को 25 वर्ष की आयु से कम होनी चाहिए और उसे 31 अक्टूबर 2020 तक अंतिम अंकतालिका प्रस्तुत करने में सक्षम होना चाहिए।
  • आवेदन प्रक्रिया: दोनों ही पाठ्यक्रमों के लिए, आवेदनों को आरजीएनएयू की वेबसाइट website http://www.rgnau.ac.in. को एक्सेस करने के द्वारा केवल आनलाइन तरीके से भरा जाना है। सामान्य/ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारो के लिए आवेदन शुल्क 950 रुपये है तथा अनुसूचित जाति/जनजाति /दिव्यांग वर्गों के लिए 475 रुपये है। यह शुल्क गैर वापसी योग्य है, किसी बैंक या पेमेंट गेटवे सर्विस शुल्क का निर्वहन आवेदक द्वारा किया जाएगा।
  • चयन प्रक्रिया: दोनों ही पाठ्यक्रमों के लिए उम्मीदवारों का चयन रविवार, 16 अगस्त, 2020 पर अखिल भारतीय आधार पर संचालित एक ओएमआर आधारित प्रवेश परीक्षा द्वारा होगा।
प्रोग्राम     पात्रता       आवेदन प्रक्रिया        चयन प्रक्रिया

 

आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि

 

उड्डयन तथा एयर कार्गो में बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (बीएमएस) (तीन वर्ष का कोर्स)

 

एक विषय के रूप में गणित या बिजनेस स्टैटिक्स या बिजनेस मैथेमैटिक्स के साथ 10 + 2, में न्यूनतम 50 प्रतिशत समुच्चयी अंक

अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के छात्रों के लिए 5 प्रतिशत अंक की छूट

31 अगस्त 2020 को 21 वर्ष की आयु से कम

 

आरजीएनएयू की वेबसाइट website http://www.rgnau.ac.in. पर आनलाइन आवेदन

 

आवेदन शुल्क

सामान्य/ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारो के लिए आवेदन शुल्क 950 रुपये है तथा अनुसूचित जाति/जनजाति /दिव्यांग वर्गों के लिए 475 रुपये

 

यह शुल्क गैर वापसी योग्य है

किसी बैंक या पेमेंट गेटवे सर्विस शुल्क का निर्वहन आवेदक द्वारा किया जाएगा।

 

रविवार, 16 अगस्त, 2020 पर अखिल भारतीय आधार पर संचालित एक ओएमआर आधारित प्रवेश परीक्षा द्वारा 29 जुलाई 2020
हवाई अड्डा प्रचालनों में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पीजीडीएओ) ( 18 महीने का कोर्स)

 

किसी मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से न्यूनतम 55 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक

अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के छात्रों के लिए 5 प्रतिशत अंक की छूट

31 अगस्त 2020 को 25 वर्ष की आयु से कम

 

राजीव गांधी राष्ट्रीय उड्डयन विश्वविद्यालय के बारे में

राजीव गांधी राष्ट्रीय उड्डयन विश्वविद्यालय (आरजीएनएयू) उत्तर प्रदेश के अमेठी में राजीव गांधी राष्ट्रीय उड्डयन विश्वविद्यालय अधिनियम, 2013 के तहत स्थापित भारत का पहला और एकमात्र उड्डयन विश्वविद्यालय है। आरजीएनएयू का उद्देश्य उड्डयन उद्योग के भीतर सभी उप-क्षेत्रों के प्रचालन और प्रबंधन में उत्कृष्टता अर्जित करने के लिए उद्योग के संयोजन के साथ उड्डयन अध्ययन, शिक्षण, प्रशिक्षण, अनुसंधान को सुगम बनाना तथा इसे बढ़ावा देना है। भारतीय उड्डयन उद्योग के भीतर कौशल अंतरालों को पाटने के लिए, विश्वविद्यालय वर्तमान में तीन प्रोग्रामों-एक अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम, एक पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम तथा एक बेसिक फायर फाइटिंग में सर्टिफिकेट कोर्स – की पेशकश करता है। विश्वविद्यालय मध्य स्तर एवं वरिष्ठ उड्डयन पेशेवरों, जो पहले से ही अपने व्यवसाय से जुड़े हैं, के लिए अद्यतन ज्ञान उपलब्ध कराने के लिए कई प्रकार के ईडीपी/एमडीपी का भी संचालन करता है। विश्वविद्यालय के बारे में अधिक जानकारी के लिए www.rgnau.ac.in  से संपर्क किया जा सकता है।      PIB releases.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *