रेलवे संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले 11268 गिरफ्तार, करोड़ों की संपत्ति बरामद, जानकर आप भी चौंक जाएंगे

हाइलाइट्स

5179 दलालों को गिरफ्तार किया गया
उनके विरुद्ध 4884 मामले दर्ज किए गए

नई दिल्‍ली. रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ऑपरेशन “रेल सुरक्षा” ऑपरेशन के तहत वर्ष 2022 में रेलवे संपत्ति की चोरी के 6492 मामले दर्ज किए, जिसमें 11268 अपराधियों की गिरफ्तारी कर उनसे 7.37 करोड़ रुपये का सामान बरामद किया. वहीं, ऑपरेशन “उपलब्ध” के अंतर्गत दलालों के खिलाफ कार्रवाई कर आरपीएफ दलाली में शामिल व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की.

इस अभियान से 5179 दलालों को गिरफ्तार किया गया और उनके विरुद्ध 4884 मामले दर्ज किए गए. इनमें आईआरसीटीसी के ऐसे 1021 अधिकृत एजेंट भी शामिल हैं जो आरक्षित टिकटों को हड़पने में अवैध तरीकों का इस्तेमाल करते हैं . 140 से अधिक अवैध सॉफ्टवेयरों को उनके डेवलपर्स, सुपर सेलर्स, विक्रेताओं और खुदरा विक्रेताओं द्वारा इस तरह के अवैध सॉफ्टवेयर्स का उपयोग करते हुए गिरफ्तार किया गया.

ऑपरेशन नन्हे फरिश्ते के अंतर्गत बच्चों का बचाव के तहत आरपीएफ कर्मियों द्वारा ऐसे 17,756 बच्चों को बचाया गया. आरपीएफ की एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट्स को पूरे भारत में 740 से अधिक स्थानों पर पोस्ट स्तर (थाना स्तर) पर सक्रिय किया गया था. वर्ष के दौरान, 194 तस्करों को गिरफ्तार कर 559 व्यक्तियों को उनके चंगुल से छुड़ाया गया.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

राज्य चुनें

दिल्ली-एनसीआर

राज्य चुनें

दिल्ली-एनसीआर

मिशन “जीवन रक्षा” के तहत आरपीएफ के जवान अपने जीवन को जोखिम में डालकर दूसरों की जान बचाने की कोशिश करते हैं. वर्ष के दौरान, आरपीएफ कर्मियों द्वारा इस प्रकार 852 बहुमूल्य जीवनों की रक्षा की गई.

ऑपरेशन “नारकोस (एनएआरसीओएस)” के तहत 1081 अपराधियों को गिरफ्तार किया है और इसके आगे की कानूनी कार्रवाई की और लगभग 80 करोड़ रुपये के नशीले पदार्थ बरामद किए गए.

Tags: Indian railway, Indian Railway news, Indian Railways, Railway, RPF

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *