नोएडा-ग्रेटर नोएडा वालों ने खरीदी है पुरानी कार तो हो जाएं सावधान, ट्रैफिक पुलिस धड़ाधड़ सीज कर रही गाड़ियां

हाइलाइट्स

दस्तावेजों की आकस्मिक जांच और दस्तावेज का सत्यापन होगा.
रजिस्ट्रेशन ट्रांसफर नहीं कराया है उनके खिलाफ कार्रवाई होगी.
नोएडा पुलिस इस तरह के वाहनों को जब्त भी कर सकती है.

नई दिल्ली. अगर आप दिल्ली-एनसीआर में रहते हैं और हाल ही में आपने कोई पुराना वाहन खरीदा है तो यह जानकारी आपके बहुत काम आ सकती है. नोएडा और ग्रेटर नोएडा पुलिस बेचे गए पुराने वाहनों के दस्तावेजों का सत्यापन शुरू कर रही है. पुलिस कमिश्ननर लक्ष्मी सिंह के मुताबिक ऐसे वाहन मालिक जिन्होंने पुराने वाहन खरीदे हैं, उन्हें वाहन के रजिस्ट्रेशन अपडेट कराने होंगे. अगर कोई वाहन मालिक बिना अपडेट रजिस्ट्रेशन के पकड़ जाता है तो वाहनों की जब्ती हो सकती है.

गौतम बौद्ध नगर पुलिस ने एक से ज्यादा व्यक्तियों के स्वामित्व वाले वाहनों के दस्तावेजों की आकस्मिक जांच और सत्यापन के लिए एक अभियान शुरू करने के लिए तैयार है. तीनों जोन नोएडा, सेंट्रल नोएडा और ग्रेटर नोएडा में पुलिस टीमें जल्द ही ऐसे पुराने वाहनों की जांच शुरू करेंगी और अगर उनके स्वामित्व और पंजीकरण दस्तावेजों को अपडेट नहीं किया गया है तो उन्हें जब्त कर लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- ये सस्ती इलेक्ट्रिक कार भारत में होने जा रही लॉन्च, टाटा-महिंद्रा जैसी भारतीय कंपनियों के लिए बनेगी बड़ी चुनौती

आपके शहर से (नोएडा)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

पुलिस को नहीं कार की कोई भी जानकारी
पुलिस ने यह पहल ग्रेटर नोएडा में नए साल के एक दिन पहले हिट एंड रन मामले के बाद शुरू की है, जिसमें तीन बी.टेक छात्रों को एक तेज रफ्तार कार ने टक्कर मार दी थी. इन छात्रों में से एक लड़की स्वीटी कुमार गंभीर रूप से घायल हो गई थी और उसकी सर्जरी करनी पड़ी. यह पूरी तरह से एक प्लाइंड केस था, जिसमें 15 से ज्यादा दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस कोई आरोपी गिरफ्तार नहीं कर पाई थी. पुलिस आयुक्त ने कहा, “यह एक ब्लाइंड मामला था, जिसमें लगभग कोई सुराग नहीं था. हमारे पास सिर्फ संदिग्ध कार सेंट्रो की जानकारी है, जिसके आधार पर जांच शुरू की.”

ये भी पढ़ें- ₹25,000 के जुर्माने से बचना है तो गाड़ी में करें ये बदलाव, 3 गलतियां पड़ जाएंगी भारी 

12 हजार कारों में से इस तरह पकड़ी आरोपी की कार
पुलिस आरोपियों को पड़कने के लिए नोएडा में मौजूद सभी सेंट्रो कार की ट्रेसिंग शुरू की थी. परिवहन विभाग ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि यहां 12 हजार सैंट्रो कारों का रजिस्ट्रेशन हुआ था. वाहनों की शॉर्टलिस्टिंग की गई तो लगभग 1,000 सेंट्रो ही रह गईं और आखिरकार संदिग्ध कारों की संख्या घटकर केवल चार रह गई, जिसमें एक अपराधी की कार भी शामिल थी. इसके बाद पुलिस अपराधी को पकड़ने में सफल रही.

Tags: Auto News, Auto sales, Autofocus, Automobile, Delhi-NCR News, Noida crime, Noida news, Noida Police, Road Safety Tips, Traffic Alert, Traffic fines, Traffic Light, Traffic Police, Traffic rules

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *