देश को मिला पहला एंग्लो-इंडियन BCCI अध्यक्ष, बतौर खिलाड़ी और कोच जीता है वर्ल्ड कप

हाइलाइट्स

रोजर बिन्नी 1983 वर्ल्ड कप टीम में थे शामिल
बतौर कोच 2000 में दिलाया अंडर-19 का खिताब

नई दिल्ली. रोजर बिन्नी (Roger Binny) बीसीसीआई के नए अध्यक्ष बन गए हैं. बीसीसीआई की मंगलवार को हुई एजीएम पर उनके नाम पर मुहर लगी. वे यहां तक पहुंचने वाले पहले एंग्लो-इंडियन हैं. उन्होंने पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की जगह ली. बिन्नी का कार्यकाल 3 साल का होगा. अभी वे कर्नाटक स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष भी हैं. बिन्नी ने बतौर ऑलराउंडर 1983 में टीम इंडिया को पहला वर्ल्ड कप दिलाने में अहम योगदान दिया था. वे बतौर कोच भी 2000 में भारतीय अंडर-19 को वर्ल्ड कप का खिताब दिला चुके हैं. इससे पहले वे बीसीसीआई के 5 सदस्यीय सेलेक्शन पैनल में भी शामिल रहे.

67 साल के रोजर बिन्नी नवंबर 1979 में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट से इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की थी. इस मैच में वे हालांकि विकेट नहीं ले सके. लेकिन मैच की पहली पारी में 46 रन बनाए. यह मुकाबला ड्रॉ रहा. अगले साल उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे डेब्यू किया. लेकिन 1983 वर्ल्ड कप में उनका प्रदर्शन आज भी फैंस को याद है. उन्होंने टूर्नामेंट में सबसे अधिक 18 विकेट लिए थे और टीम को चैंपियन बनाने में अहम रोल निभाया था.

पहले ही मैच में किया कारनामा
1983 के वर्ल्ड कप के पहले मैच में भारत ने वेस्टइंडीज को 34 रन से हराया था. उन्होंने मैच में 27 रन बनाने के अलावा 3 विकेट भी झटके. अगले मैच में जिम्बाब्वे के खिलाफ भी 2 विकेट लिए. टीम ने ग्रुप राउंड में ऑस्ट्रेलिया को मात दी थी. इस मुकाबले में बिन्नी ने 21 रन बनाए और 4 विकेट झटके. फाइनल की बात करें तो उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 10 ओवर में 23 रन देकर एक विकेट लिया था.

वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी दिखाया कमाल
1985 में ऑस्ट्रेलिया में हुए वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब भी टीम इंडिया ने जीता. भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज सहित 7 दिग्गज टीमें इसमें उतरी थीं. भारत ने फाइनल में पाकिस्तान को 8 विकेट से हराया था. इस टूर्नामेंट में भी रोजर बिन्नी ने 17 विकेट झटके. उन्होंने ओवरऑल करियर में 27 टेस्ट खेले और 33 की औसत से 47 विकेट झटके. 56 रन देकर 6 विकेट उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा. उन्होंने 5 अर्धशतक के सहारे 830 रन भी बनाए. नाबाद 83 रन की सबसे बड़ी पारी खेली.

लॉर्ड्स पर दिलाई पहली जीत
जून 1986 में भारतीय टीम ने लॉर्ड्स पर पहली बार काेई टेस्ट मैच जीता था. इससे पहले खेले गए 10 में से 8 टेस्ट में टीम को हार मिली थी, जबकि 2 टेस्ट ड्रॉ रहे थे. मैच में रोजर बिन्नी ने भी जीत में अहम योगदान दिया था. पहली पारी में उन्होंने 3 विकेट झटके. दूसरी पारी में भी उन्होंने एक विकेट लिया. उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट के 136 मैच में 36 की औसत से 205 विकेट झटके. 22 रन देकर 8 विकेट बेस्ट प्रदर्शन रहा. 14 शतक और 33 अर्धशतक के सहारे 6579 रन भी बनाए. नाबाद 211 रन की बेस्ट पारी खेली.

कार्तिक मयप्पन ने टी20 वर्ल्ड कप में रचा इतिहास, हैट्रिक लेकर ब्रेट ली की लिस्ट में शामिल

रोजर बिन्नी के वनडे के प्रदर्शन को देखें, तो उन्होंने 72 मैच में 29 की औसत से 77 विकेट झटके. 29 रन देकर 4 विकेट बेस्ट प्रदर्शन रहा. 16 की औसत से 629 रन भी बनाए. 57 रन सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा. उनके बेटे स्टुअर्ट बिन्नी ने भी भारत की ओर से इंटरनेशनल के मुकाबले खेले. हालांकि उनका करियर पिता की तरह उतना बेहतरीन नहीं रहा.

Tags: BCCI, ODI World Cup, Roger Binny, Team india, Under19 world cup

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *