उत्तराखंड के अंकिता मर्डर केस में आरोपियों से पूछताछ पूरी, जानें क्या है अपडेट । Ankita Bhandari Murder Case The investigation of the accused in the Ankita murder case of Uttarakhand completed

Image Source : ANI
Ankita Bhandari Murder Case

Highlights

  • उत्तराखंड के अंकिता मर्डर केस में आरोपियों से पूछताछ पूरी
  • डीआईजी पी रेणुका देवी ने दी जानकारी
  • इलेक्ट्रॉनिक सबूतों को फोरेंसिक लैब को भेजा गया

Ankita Bhandari Murder Case: उत्तराखंड के चर्चित अंकिता भंडारी मर्डर केस में आरोपियों से पूछताछ पूरी हो गई है। इस बात की जानकारी डीआईजी पी रेणुका देवी ने दी है। रेणुका ही इस मामले में एसआईटी की इनचार्ज हैं। उन्होंने बताया कि आरोपियों से पूछताछ पूरी हो गई है और उनके बयान दर्ज कर लिए गए हैं। हमने इलेक्ट्रॉनिक सबूतों को फोरेंसिक लैब को भेज दिया है। अनैतिक ट्रैफिक (रोकथाम) अधिनियम की IPC धारा 354A और धारा 5 को जोड़ा गया है। आगे की जांच जारी है। 

रिसेप्शनिस्ट का काम करती थी 19 साल की अंकिता भंडारी

उत्तराखंड के पौड़ी जिले के यमकेश्वर में गंगा भोगपुर में वनतारा रिजॉर्ट में 19 साल की अंकिता भंडारी रिसेप्शनिस्ट के तौर पर काम करती थी। इस मामले में मुख्य आरोपी पुलकित हरिद्वार के पूर्व भाजपा नेता विनोद आर्य का पुत्र है। घटना के सामने आने के बाद भाजपा ने आर्य को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। 

इस हत्याकांड से पूरे राज्य में रोष है जहां अंकिता के हत्यारों को तत्काल फांसी दिए जाने की मांग को लेकर लोगों ने कई घंटों तक श्रीनगर में ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग को बाधित रखा था। अलकनंदा नदी के तट पर अंकिता के अंतिम संस्कार में भी हजारों लोगों की भीड़ शामिल हुई थी और उसके लिए इंसाफ की मांग की थी।

“मुझे अंतिम समय में बेटी का चेहरा भी नहीं देखने दिया”

बेटी की हत्या से गमगीन अंकिता की मां सोनी देवी ने कहा था कि उनके साथ अन्याय हुआ है क्योंकि उन्हें अंतिम समय में अंकिता का मुंह भी नहीं देखने दिया गया। उन्होंने कहा, ‘‘रात को अंतिम संस्कार करने की क्या जरूरत थी। जब इतना रुक गए थे तो एक दिन और रुक जाते। सबसे बड़ा गुनाह तो उन्होंने (सरकार ने) यह किया कि मुझे अपनी बेटी का चेहरा भी नहीं देखने दिया।’’

सीएम कर चुके हैं मुआवजे का ऐलान

अंकिता भंडारी मर्डर केस में उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी मुआवजे की घोषणा भी कर चुके हैं। अंकिता के परिजनों को 25 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया गया था।

क्या है पूरा मामला

अंकिता का शव 24 सितंबर को चीला नहर से बरामद किया गया था। अंकिता भंडारी की कथित रूप से रिजॉर्ट संचालक पुलकित आर्य ने अपने दो कर्मचारियों, प्रबंधक सौरभ भास्कर और सहायक प्रबंधक अंकित गुप्ता के साथ मिलकर ऋषिकेश के पास चीला नहर में धकेलकर हत्या कर दी थी। इससे पहले, अंकिता की गुमशुदगी के मामले में 23 सितंबर को तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था जिन्होंने पूछताछ में उसकी हत्या की बात स्वीकार की थी। 

Latest India News

function loadFacebookScript(){
!function (f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq)
return;
n = f.fbq = function () {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments);
};
if (!f._fbq)
f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s);
}(window, document, ‘script’, ‘//connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘1684841475119151’);
fbq(‘track’, “PageView”);
}

window.addEventListener(‘load’, (event) => {
setTimeout(function(){
loadFacebookScript();
}, 7000);
});

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *