असुरक्षित बेटियां: चंडीगढ़ से लेकर कानपुर तक गर्ल्‍स हॉस्‍टल के बाथरूम में झांकतीं ‘निगाहें’

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के गर्ल्‍स हॉस्‍टल में नहानती हुई लड़कियों के वीडियो बनाने की घटना के बाद इस तरह की कई घटनाएं देखने और सुनने को मिलीं, हालांकि इससे पहले भी कई ऐसे मामले सामने आए और उस दौरान भी खूब हो हल्‍ला मचा. चंडीगढ़ से पहले प्रयागराज उसके बाद बिहार के सिवान समेत न जाने कितनी जगहों पर ऐसी घटनाएं सामने आईं जिसने सबको झकझोर कर रख दिया है. इन घटनाओं के बाद बेटियों की सुरक्षा चिंताएं बढ़ गईं हैं. आइए जानते हैं कहां कहां इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं.

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की घटना ने सबको हैरान कर दिया.

18 सितंबर: चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में बवाल
मोहाली स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी (Chandigarh University) में 60 छात्राओं के नहाते हुए वीडियो वायरल होने का मामला सामने आया. ये वीडियो हॉस्‍टल की एक लड़की ने ही बनाए थे. इसका खुलासा तब हुआ जब एक दूसरी लड़की ने उसे ऐसा करते हुए देख लिया, जिसके बाद उससे अन्‍य सभी लड़कियों ने पूछताछ शुरू कर दिया. काफी दबाव के बाद आरोपी लड़की ने बताया कि उसने ये वीडियो अपने किसी दोस्‍त के कहने पर बनाए थे. काफी हंगामे के बाद पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कार्रवाई की और आरोपियों को पकड़ लिया.

20 सितंबर: आईआईटी बॉम्‍बे में भी कैमरा
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) बॉम्बे में भी चंडीगढ यूनिवार्सिटी जैसा मामला सामने आया. यहां एक छात्रा ने अश्‍लील वीडियो बनाने का आरोप लगाया. छात्रा का आरोप था कि एक कैंटीन कर्मचारी ने हॉस्टल 10 के बाथरूम की खिड़की से उसका वीडियो बना लिया, हालांकि बाद में पुलिस ने FIR दर्ज कर 22 साल के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि आरोपी ने बाथरूम तक पहुंचने के लिए पाइप का उपयोग किया था.

24 सितंबर: भोपाल में कॉलेज के बाथरूम में कैमरा
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के एक कॉलेज के बाथरूम में भी हिडेन कैमरा लगा था. बताया जाता है कि एकआईटीआई कॉलेज में एक छात्रा का न केवल वीडियो बनाया गया, बल्कि उसे ब्‍लैकमेल भी किया जाने लगा. पीड़िता ने कॉलेज के ही 3 पूर्व छात्रों पर वीडियो बनाकर ब्‍लैकमेल करने के आरोप लगाए. जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई की.
29 सितंबर: कानपुर में कर्मचारी बना रहा था वीडियो
उत्तर प्रदेश के कानपुर में भी ठीक वैसा ही मामला सामने आया जैसा कुछ दिनों पूर्व चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में हुआ था. यहां के एक निजी हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं के नहाते हुए वीडियो बनाए जा रहे थे. ये वीडियो कोई और नहीं, हॉस्‍टल का एक कर्मचारी ही बना रहा था. बताया गया कि लड़कियां जिस बाथरूम में नहाती थी, उसके दरवाजे के एक हिस्‍से को तोड़ दिया गया था और वहीं से मोबाइल के जरिये वीडियो बनते थे. इसका खुलासा तब हुआ जब बाथरूम में एक लड़की नहा रही थी और दूसरी लड़की बाहर इंतजार कर रही थी. वह जैसे ही बाथरूम की तरफ आई, उसने कर्मचारी को वीडियो बनाते हुए देख लिया, जिसके बाद छात्राओं ने हंगामा किया. बाद में पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को हिरासत में ले लिया.
30 अगस्‍त: बिहार में गर्ल्स हॉस्टल के बाथरूम में स्पाई कैमरा
बिहार का एक जिला है सीवान, इस जिले में एक स्‍थान है महाराजगंज. यहां के एक फॉर्मेसी व पैरामेडिकल कॉलेज के गर्ल्‍स हॉस्‍टल के बाथरूम में हिडेन कैमरा लगने का जब खुलासा हुआ तो यहां पढ़ने वाली लड़कियों के होश उड़ गए. बताया जाता है कि यह स्‍पाई कैमरा बाथरूम में लगे गीजर में लगाया गया था, जिससे वह किसी को दिखाई न दे सके. बाद में किसी लड़की की इस पर नजर गई तब जाकर इस मामले का खुलासा हो सका, जिसके बाद यहां लड़कियों ने जमकर हंगामा काटा. इतना ही नहीं लड़कियों ने यह भी बताया कि यहां पढ़ने वाले लड़के उनको देखकर अश्‍लील और भोजपुरी गाने गाते हैं. इसके अलावा उन्‍हें सोशल मीडिया पर भी अश्‍लील मैसेज करते हैं.

2 जून: प्रयागराज में हॉस्‍टल के शॉवर में हिडेन कैमरा
उत्‍तर प्रदेश का प्रयागराज पढ़ाई लिखाई के लिए विख्‍यात इस शहर में दूर-दूर से लड़के-लड़कियां अपना करियर बनाने आते हैं. कोई यहां कमरा लेकर रहता है, तो कोई किसी के मकान में पेइंग गेस्‍ट बनकर, लेकिन कौन कितना सुरक्षित है यह कोई नहीं जानता. यहां 2 जून को एक युवक आशीष खरे को गिरफ्तार किया गया. आशीष ने अपने घर में गर्ल्‍स हॉस्‍टल बना रखा था, जिसके बाथरूम में उसने हिडेन कैमरे लगा रखे थे. ये कैमरे शॉवर में लगाए गए थे, जिसकी मदद से वह लड़कियों व महिलाओं के फोटो और वीडियो बनाता था. इस बात का खुलासा तब हुआ जब एक छात्रा नहाने गई और बाथरूम के शॉवर से पानी कम आ रहा था. उसे लगा कि शॉवर में कुछ फंसा है, जब उसने उसे एक दो बार हिलाया तो कैमरा नीचे गिर गया.

Tags: Chandigarh, University education, Viral video news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *